पहली कैबिनेट बैठक में अतिथि शिक्षक होंगे नियमित-पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ


मध्यप्रदेश में एक बहुत बड़ा वोट बैंक  अतिथि शिक्षक है इनको साधने के  लिए विभिन्न पार्टियां समय-समय पर अतिथि शिक्षकों को अपने पक्ष में करने का प्रयास करते रहते हैं,
इसी बीच पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अतिथि शिक्षकों के प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात कर यह वचन दिया कि उपचुनाव में सरकार बनते ही कैबिनेट की पहली बैठक में अतिथि शिक्षकों को नियमित किया जाएगा ,गौरतलब है कि इसके पहले पूर्व मुख्यमंत्री अतिथि शिक्षकों से किए गए घोषणापत्र में शामिल मांगों को पूरा ना होने के कारण माफी मांग चुके हैं
वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शिक्षक भर्ती में अतिथि शिक्षकों के लिए 25% आरक्षण का प्रावधान किया था
वहीं काग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण की  नीति बनाने का बिंदु शामिल किया था|

नियमित शिक्षक भर्ती हो जाने के बाद अतिथि शिक्षकों को अपने भविष्य की चिंता सता रही है ,अतिथि शिक्षक की मांग है या तो उन्हें नियमित किया जाएगा या वर्तमान वेतन पर सेवानिवृत्ति की आयु तक  स्थाई किया जाए,
अतिथि शिक्षकों का कहना है कि कई सालों से सरकारी स्कूल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं सरकार हमारे बच्चों और परिवार के भरण-पोषण के साथ-साथ हमारे भविष्य को सुरक्षित करने की दिशा में कोई ठोस कदम उठाए

यदि आप अतिथि शिक्षक हैं तो आप अपने  मत के अनुसार किसे वोट देना चाहेंगे नीचे वोटिंग सिस्टम में वोटिंग करें, आप जिस पक्ष में वोट करना चाहते हैं उस ऑप्शन पर क्लिक करें|