सभी विकासखण्डों में फीवर क्लीनिक्स प्रारंभ करायें-कलेक्टर
__

कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने कलेक्टर चैम्बर में स्वास्थ विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर कोरोना की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने कोरोना मरीजों को अच्छे से अच्छा ईलाज हो जिससे वे शीघ्र स्वस्थ्य हो। संक्रमण रोकने के लिये सभी आवष्यक कदम उठाये जायें। उन्होंने विकासखण्ड स्तर पर फीवर क्लीनिक प्रारंभ करने के निर्देश दिये। क्लीनिक में सभी आवष्यक व्यवस्थाएं हो ताकि मरीजों की प्रारंभिक स्तर पर भी स्वास्थ्य जांच हो सके। कलेक्टर ने शहरी क्षेत्रों में भी 50 हजार से 1 लाख की आबादी पर फीवर क्लीनिक प्रारंभ करने के निर्देष दिये। फीवर क्लीनिक पर जाकर कोई भी व्यक्ति जिसे सर्दी, जुकाम, फ्लू आदि के लक्षण दिखाई देते हैं, अपना स्वास्थ्य परीक्षण करा सकेगा। फीवर क्लीनिक में उसके स्वास्थ्य की जाँच कर लक्षणों के आधार पर उसे कोविड केयर सेंटर आदि में भेजा जा सकेगा। उन्होंने चलित वाहनों के माध्यम से कोरोना सेम्पिल कलेक्षन करने के लिये कहा। 
बैठक में कलेक्टर ने कोरोना से मृत्यु के एक-एक प्रकरण में डिटेल एनालिसिस रिपोर्ट देने को कहा। उन्होंने निजी अस्पताल प्रारंभ किये जाने के निर्देश भी दिये। ये निजी अस्पताल गैर कोरोना मरीजों का ईलाज कर सकेंगे। यदि इन्हें कोई मरीज संदिग्ध लगता है तो उसे मेडीकल कॉलेज या अन्य शासकीय चिकित्सालय को रेफर कर सकेंगे। बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री आरपी अहिरवार, जिला पंचातय सीईओ श्री इच्छित गढ़पाले, अपर कलेक्टर श्री अखिलेष जैन, बीएमसी के डीन डा. जीएस पटेल, संयुक्त कलेक्टर श्री आदित्य शर्मा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी श्री आईएस ठाकुर, सिविल सर्जन डा. व्ही के तोमर, डा. मनीष जैन, आरआरटी के नोडल अधिकारी श्री रत्नेष भदोरिया एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।