स्नातक अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर के चौथे सेमेस्टर की परीक्षाएं 'ऑनलाइन' कराने का निर्णय



मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि महाविद्यालयीन स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष एवं स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के छात्रों को गत वर्ष/सेमेस्टर के परीक्षा परिणाम एवं वर्तमान वर्ष/सेमेस्टर के आंतरिक मूल्याँकन के आधार पर आगामी वर्ष/सेमेस्टर में प्रवेश दिया जायेगा।परीक्षार्थियों को उनके निर्धारित लॉगिन आईडी / वेबसाइट पर प्रश्न पत्र उपलब्ध कराते हुए ओपन बुक परीक्षा प्रणाली के माध्यम से अपने निवास में ही रहकर उत्तर पुस्तिका लिखकर निकट के उत्तर पुस्तिका संग्रहण केंद्र में जमा कराने अथवा मेल या डाक से भेजने की सुविधा होगी।

यदि कोई परीक्षार्थी इस परीक्षा में शामिल नहीं हो पाते हैं तो उन्हें परीक्षा में शामिल होने का दूसरा अवसर दिया जायेगा।ओपन बुक परीक्षाओं के मूल्यांकन हेतु छात्रों को गत वर्षों/सेमेस्टर के प्राप्तांको का 50% वेटेज तथा ओपन बुक परीक्षा के प्राप्तांको का का 50% वेटेज दिया जायेगा।

विश्वविद्यालयीन परीक्षाएं सितंबर 2020 में आयोजित की जाएँगी तथा परीक्षा परिणाम अक्टूबर 2020 में घोषित किये जायेंगे। शासन के इस फैसले से लगभग 5.71 लाख छात्र-छात्राओं को लाभ मिलेगा।

वहीं दूसरी तरफ छात्र-छात्राओं द्वारा परीक्षा को लेकर लगातार विरोध किया जा रहा है छात्र-छात्राओं ने अपनी समस्याओं से अवगत कराते हुए बताया कि किसी भी तरह परीक्षा देने की स्थिति में हम नहीं है 

नहीं सिलेबस पूरा किया गया है और नहीं सभी छात्र छात्राएं ऑनलाइन एग्जाम देने में सक्षम है
कई छात्र छात्राओं का कहना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री जी हमारी समस्या को समझने का प्रयास करें|



Chief Minister Shivraj Singh Chouhan has said that the students of college undergraduate first, second year and postgraduate second semester will be admitted in the coming year / semester based on the exam results of the previous year / semester and internal evaluation of the current year / semester.  Providing the question papers on their prescribed login ID / website, through the Open Book Examination system, there will be facility to write the answer book by staying in their own residence and submit it to the nearest answer book collection center or send it by mail or post.


 If any of the candidates are not able to appear in this examination, then they will be given another opportunity to appear in the examination. For evaluation of Open Book Examinations, students will get 50% weightage of last year / semester score and 50% of Open Book Examination score.  % Weightage will be given.


 The university examinations will be held in September 2020 and the exam results will be announced in October 2020.  This decision of the government will benefit about 5.71 lakh students.


 On the other hand, there is constant opposition to the examination by students and students, while informing about their problems, said that we are not in a position to give the exam in any way.

 No syllabus has been completed and not all students are able to give online examinations.

 Many students say that the Chief Minister of the state should try to understand our problem.