नौकरी का गठबंधन

newsjobmp.com--राजनीति की तरह यदि नौकरी में भी गठबंधन लागू हो जाए तो कितना अच्छा होता है,दो अनुत्तीर्ण अभ्यार्थी एक उत्तीर्ण अभ्यार्थी बन जाएगा दोनों मिलकर आधा-आधा काम करेंगे और दोनों मिलकर आधा आधा वेतन बाटेंगे, जब कभी एक दूसरों में मनमुटाव होगा तो एक दूसरा यह कहते हुए सुने जाएंगे कि हमारे नंबर यदि अलग कर दिए जाएंगे तो तुम अनुत्तीर्ण की श्रेणी में आ जाओ, एक कहेगा हमारे नंबर तुमसे ज्यादा थे तो दूसरा कहेगा मेरे नंबर भले कम है लेकिन मेरे नंबर ना जोड़ते तो तुम उत्तीर्ण की श्रेणी में ना आते,
जिस काम के लिए हमें रखा गया है हम बस वही काम नहीं करते, जब कोई कोई कार्य लेकर आता हम वहां और वह यहां भेजता रहता फिर ऐसे में ही आज का दिन पूरा हो जाता है,
दोनों अभ्यार्थियों में नौकरी को लेकर खींचातानी चलती रहती लेकिन वेतन के समय में दोनों में गजब की एकजुटता दिखाई देती,
जब कोई इस पर आपत्ति उठाता कि 2 लोग मिलकर एक नौकरी क्यों कर रहे हैं तो जवाब होता साहब जब राजनीति में गठबंधन हो रहा है तो नौकरी में क्यों नहीं |