शासन ने स्पष्ट किया है कि सरकारी एवं प्राइवेट सभी कर्मचारी जो भी कोविड़ ड्यूटी में लगी है उन्हें करोना योद्धा माना जायेगा।