प्री-प्राईमरी और प्रारंभिक कक्षाओं में भी ऑनलाइन शिक्षा दी जा सकेगी

भारत सरकार मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा ऑनलाइन डिजिटल शिक्षण प्रज्ञता के संबंध में जारी निर्देशानुसार अब प्रदेश में प्री-प्राईमरी एवं प्राइमरी कक्षाओं में भी ऑनलाइन/डिजिटल कक्षाओं के माध्यम से शिक्षण कार्य किया जा सकेगा।

केन्द्रीय मानव एवं विकास संसाधन मंत्रालय ने दूरस्थ शिक्षा विशेषकर मोबाइल/लैपटॉप/कम्प्यूटर के माध्यम से ऑनलाइन कक्षाओं के संचालन को देखते हुए निर्देश जारी किये हैं। प्री-प्राईमरी कक्षाओं में सप्ताह में 3 दिन, अधिकतम 30 मिनट तक ऑनलाइन क्लास ली जा सकती है। इसके लिये पालक एवं अभिभावकों से भी चर्चा की जायेगी। प्रारंभिक कक्षाओं (पहली से आठवीं तक) के लिये नियत दिवसों में सप्ताह में 5 दिन अधिकतम 2 सत्र किये जा सकेंगे एवं प्रत्येक सत्र की अवधि 30 से 45 मिनट तक होगी। हाई एवं हायर सेकंडरी (कक्षा 9वीं से 12वीं) कक्षाओं के लिये नियत दिवसों में सप्ताह में 6 दिन अधिकतम 4 सत्र किये जा सकेंगे। प्रत्येक सत्र की अवधि 30 से 45 मिनट तक होगी।

Online education can also be given in pre-primary and elementary classes

 According to the instructions issued by the Ministry of Human Resource Development, Government of India, regarding online digital learning knowledge, now teaching work can be done through online / digital classes in pre-primary and primary classes in the state.

 The Union Ministry of Human Resource Development has issued instructions in view of the operation of online classes through distance education especially mobile / laptop / computer.  Online classes can be taken in pre-primary classes 3 days a week, up to a maximum of 30 minutes.  For this, discussions will also be held with parents and guardians.  For the initial classes (first to eighth), a maximum of 2 sessions can be done 5 days a week on the appointed days and the duration of each session will be from 30 to 45 minutes.  For High and Higher Secondary (Class 9th to 12th) classes, a maximum of 4 sessions can be done 6 days a week in the fixed days.  The duration of each session will be from 30 to 45 minutes.