अतिथि शिक्षक,संविदा कर्मी एवं रोजगार सहायक नियमित होने के  लिए मंत्री परिषद समिति के निर्णय का कर रहे इंतजार

भोपाल- मध्यप्रदेश सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा 9 फरवरी 2019 को एक पत्र जारी किया गया था जिसमें अतिथि शिक्षक, संविदा कर्मी एवं रोजगार सहायक के स्थायीकरण एवं विभिन्न मांगों जिन में वित्तीय भार निहित नहीं है, विचार कर निर्णय लेने हेतु एक मंत्री परिषद समिति का गठन किया गया था, समिति को अपनी रिपोर्ट 3 माह में देने का समय दिया गया था, लेकिन 3 माह की समय अवधि समाप्त होने के बाद भी समिति ने अभी तक अपना कोई निर्णय नहीं बताया है,समिति का कोई  स्पष्ट निर्णय ना होने के कारण इन कर्मचारियों को भय है कि कहीं सरकार लोकसभा चुनाव होने के बाद उनके मामले को ठंडे बस्ते में नहीं डाल दे अतिथि शिक्षक संविदा कर्मी एवं रोजगार सहायक का कहना है कि कांग्रेस सरकार ने विधानसभा चुनाव के घोषणा पत्र में नियमितीकरण की बात कही थी, लेकिन अभी तक उनके हित में कोई निर्णय नहीं  लिए जाने से अपने भविष्यय के प्रति असमंजस की स्थिति में है